Skip to main content

आईएसओ 50001

परिचय

पीसीआरए 1978 से ऊर्जा दक्षता/पेट्रोलियम संरक्षण के क्षेत्र में काम कर रहा है। पीसीआरए देश के दूर-दराज के कोने-कोने में कई ऊर्जा दक्षता कार्यक्रमों के लिए देश में नोडल एजेंसी रही है, जो ऊर्जा उपभोक्ताओं के लगभग हर क्षेत्र जैसे औद्योगिक, परिवहन, घरेलू, कृषि आदिमें प्रवेश कर रही है। 

आईएसओ 50001-2018 मानक एक ऊर्जा प्रबंधन प्रणाली (एनएमएस) कार्यान्वयन मानक है और पीसीआरए पिछले आठ वर्षों से आईएसओ 50001 के कार्यान्वयन के लिए परामर्श कार्य प्रदान करने में शामिल है। उद्योग के सभी क्षेत्रों में आईएसओ 50001 मानक को लागू करने के हमारे निरंतर प्रयास इस तथ्य से प्रेरित हैं कि एनएमएस एक ऐसी प्रक्रिया है जिसके माध्यम से उत्तरोत्तर ऊर्जा दक्षता हासिल की जाती है और यह ऊर्जा दक्षता की संस्कृति में प्रवेश करती है। आईएसओ 50001 एनएमएस के ये पहलू ऊर्जा दक्षता के हमारे मिशन के साथ पूरी तरह से मेल खाते हैं। पीसीआरए ने पिछले 8 वर्षों में 253 आईएसओ 50001 कार्यान्वयन परामर्श कार्यों को पूरा किया है।

हमारे पास पीसीआरए के सभी क्षेत्रों में आईएसओ -50001:2018 एनएमएस में दो मान्यता प्राप्त ऊर्जा लेखा परीक्षक, 20 प्रमाणित ऊर्जा पेशेवर और 20 प्रमाणित लीड ऑडिटर हैं। हमारे कई प्रमाणित ऊर्जा लेखा परीक्षकों को भारत सरकार के आधिकारिक राजपत्र में प्रकाशित होने पर मान्यता प्राप्त ऊर्जा लेखा परीक्षकों की सूची में शामिल किए जाने की संभावना है। हम उपरोक्त आईएसओ प्रमाणीकरण के कार्यान्वयन के लिए परामर्श प्रदान करने की आवश्यकता को पूरा करने के लिए सर्वोत्तम संकाय को आकर्षित करेंगे।

आईएसओ 50001: 2018 (एनएमएस) - और पढ़ें

में संलग्न 2011 संस्करण सामग्री तुलना में आईएसओ 50001:2018 में मुख्य अंतर

आईएसओ 50001:2018 (एनएमएस) कार्यान्वयन परामर्श पीसीआरए द्वारा पूर्ण किया गया

व्यावसायिक पूछताछ